divas gupta

Interview with Public Speaker Divas Gupta by Aapki Udaan

Interview with Public Speaker Divas Gupta by Aapki Udaan

इतनी ख़ुशी कभी नही हुई, मैंने अपने मम्मी – पापा से कहा इस बार आपका बेटा अटका नही बोलते हुए

Divas Gupta
interview with divas gupta
Public Speaker Divas Gupta

First Position उन्होंने मेरा नाम लिया, and I was shocked मुझे भरोसा नही हुआ की मै जीत चूका हू, यह कैसे हो सकता है, जो बच्चा हकलाता था वो बच्चा आज कैसे जीत गया, मै आगे जाता हु और I thank them. – Divas Gupta

वो मेरे लिए एक win नही थी, कही ना कही उस सफलता ने जो डर था मेरे अंदर जो ठीक से अपना नाम तक नही बोल पता था वो डर को निकाल दिया था की नही यार तू भी अच्छे से बोल सकता है |

मेरी फॅमिली हमेशा मुझे कहती थी की Divas तू अच्छा बोलता है, लेकिन जब तक आपके आस पास के लोग नही कहते तब तक आपको भरोसा नही होता है, और वो जब हुआ so I was like….wow, This is nice….

Public Speaker Divas Gupta Interview with Aapki Udaan आज के एक नये इंटरव्यू सीरीज में आप एक ऐसे शक्स के बारें में जानने वालें है जो अपनी कड़ी मेहनत और लगन से कम उम्र में ही सफलता की सीढ़ी हासिल कर चुके है और लोगों को भी प्रेरित कर उनका मार्गदर्शन करते आ रहे है।

आपकी उड़ान अमनदीप थिंड सर का तह दिल से स्वागत करता है,आपकी उड़ान एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जो लोगों को उनके सपने पूरे करने के लिए प्रेरणा देता है।

Divas Gupta सर India’s first IKIGAI Coach, Public Speaking Coach, TEDx Speaker और Internationally Certified Master Career Practitioner भी है। आप भी अपने जीवन में सफलता को पाना चाहते है तो आपको इनके बारें में अवश्य जानना चाहिए |

आज आप इनसे ऐसी बातों को सीख सकते है, जिनसे आपको मोटिवेशन मिलेगी और पब्लिक में बिना किसी झिझक और बिना डरे अपनी बातों को रखकर बोल भी सकते है। आप अगर एक पब्लिक स्पीकर बनने का निर्णय कर चुके है तो आपको दिवस गुप्ता इंटरव्यू को अवश्य पढ़ना चाहिए।

About Divas Gupta (Public Speaking Coach, TEDx Speaker)

Divas Gupta भारत का पहला IKIGAI Coach है इसके साथ ही वो पब्लिक स्पीकिंग, TEDx speaker के रूप में भी काम करते है। यह Internationally Certified Master Career Practitioner है।

आज के युवा पीढ़ी के लिए यह प्रेरणा का स्रोत बन चुके है। इन्होने जिस तरीके से कम उम्र में इतनी बड़ी मुकाम हासिल किया उसी उम्र में अब तक वह बहुत सारें वेबिनार भी कर चुके है साथ ही 50,000 हजार से भी ज्यादा स्टूडेंट्स को यह पब्लिक स्पीकिंग का ट्रेनिंग भी दे चुके है।

इसके साथ ही वह 200 से अधिक successful webinars, 14 से अधिक देशों के स्टूडेंट्स को यह ट्रेनिंग भी दे चुके है। इस क्षेत्र में इनका कार्य करने का अनुभव 11 सालों से अधिक की है। ऑनलाइन लर्निंग वेबिनार 10,000 घंटे से भी अधिक का अब तक कर चुके है।

आप इनसे यह जान सकते है कि सफलता कैसे हासिल किया जाता है अपनी जिद्द को कैसे पूरा किया जाता है और भविष्य का बिना प्रवाह किए अपनी वर्तमान में मेहनत कर उसे सुंदर कैसे बनाया जाता है जिससे वह सफलता की मार्ग पर चलकर उसे हासिल कर सकता है।a

यह भी पढ़े :- Amandeep Thind – एक कमरे के घर से International Public Speaker बनने तक का सफ़र

Interview with Divas Gupta 2021

पब्लिक स्पीकर दिवस गुप्ता सर के साथ Aapki Udan Blog सवाल-जवाब कर रही है, जिसमें आप उनकी शुरुआती जीवन से अब तक की जीवन-यात्रा के बारें में एक interview के रूप में जानेंग

Aapki Udan: – सबसे पहले सर आप अपने बारें में हमारें और आपके प्रिय दर्शकों को परिचय दीजिये।

Divas Gupta: – मेरा घर देहरादून में है और मेरी प्रारंभिक शिक्षा यही से शुरू हुई थी। मेरे जीवन में एक खूबसूरत शहर देहरादून का बहुत बड़ा योगदान रहा है, जहाँ अच्छे लोग, अच्छी वातावरण साथ ही अच्छी विचार वहाँ बसती है। जिसका असर मेरे जीवन पर पड़ा और मैं शुरू से ही पढ़ाई में काफी अच्छा रहा।

मुझे 12th क्लास में काफी अच्छा मार्क्स मिली थी, जिससे मेरा इंजीनियरिंग में नामांकन हो गया। जहाँ मैंने पूरे 4 सालों तक इंजीनियरिंग की पढ़ाई किया। जिसमें मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला। उसके बाद मैंने एक Indian multinational technology company Infosys में नौकरी की।

जिससे मुझे भारत के कई बड़े शहरों में मुझे काम करने का मौका मिला, जहाँ मुझे realized हुआ कि मैं नौकरी करके अपना जीवन गुजारा नही कर सकता, मुझे अपनी लाइफ में बहुत आगे तक जाना है और कुछ अच्छा करना है। इसी सोच और हिम्मत को मन में रखकर मैंने नौकरी छोड़ दी और घर आ गय

जहाँ मुझे लोगों से ताने सुनने को मिलता था कि गुप्ताजी का बेटा इतनी बड़ी आईटी कंपनी में नौकरी छोड़ दिया तो अब यह क्या करेगा। भारत में ऐसा होता है कि आपको अपने से ज्यादा दूसरों से सुनने को मिलता है, लेकिन फिर भी मैं हँस देता और एक ही बात अपने मन में बोलता कुछ बड़ा करना है और इन सभी को करके भी दिखाना है।

मैंने जो ख्याब देखा उसे पाने के लिए निरंतर कोशिश करने लगा, लेकिन मेरे मन में यही सवाल चल रहा था कि यह काम करूँ या नही, इससे आगे क्या होने वाला है। यह बोलना आसान होता है कि अपने मन की सुनो जो आप करना चाहते हो उसे करो, लेकिन वास्तविक जीवन में ऐसा करना काफी मुश्किल होती है।

बहुत सारें बुक्स मैंने पढे, जिससे मुझे यह सीख मिली कि कुछ बड़ा करने के लिए शुरुआत हमेशा छोटी काम से ही करनी होती है। मेरे पास कोई अनुभव नही था कि मैं ये कर सकता हूँ। मैंने खुद निर्णय लिया था कि मुझे कुछ बड़ा करना है जिससे मेरे मन में एक जिद्द आ चुकी थी।

दिन-रात एक करके मैंने बहुत सारी मेहनत किया, शुरूआत छोटी काम से करके बड़े काम तक पहुँचने का प्रयास करते गया और हमारी मेहनत ने रंग लाई। जिससे मैं पब्लिक स्पीकिंग की क्षेत्र में अपना नाम कमाया और मैं आज जिस मुकाम पर हूँ जिसका रिज़ल्ट आप सभी के सामने है।

Aapki Udan: – सर जैसा कि आपने बताया कि आपने नौकरी छोड़ दी थी, तो आपके साथ financial condition की भी एक बड़ी समस्या आ गई होगी, तो आपने यह कैसे मैनेज किया और आपको यहाँ तक आने में कितना struggle करना पड़ा?

Divas Gupta: – ऐसा होता है कि शुरू में आप पर लोग विश्वास नही करते कि यह बिना अनुभव के यह काम कैसे कर सकता है। मैंने कई सारी स्कूल, कॉलेज में जाकर टीचर लोग से विनती किया कि सर मुझे ये काम करना है आप अपने यहाँ मुझे नौकरी दे दीजिये। सब ने माना कर दिया

लेकिन एक स्कूल ने मेरी बातों को समझा और अपने यहाँ मुझे काम करने का मौका दिया। जहाँ मुझे 6-7 घंटे तक स्टूडेंट्स के बीच में रहकर बोलना होता था। शुरू में मुझे डर लगता था कि यह सब कैसे सम्भव हो पायेगा कि मैं बहुत सारें स्टूडेंट्स के बीच में बोल सकूँ। कोशिश किया और वहाँ से मैंने पब्लिक के बीच में बोलने का अनुभव मिलने लगा था।

इसके बदले मुझे बहुत कम रुपए दिये जाते थे, जिससे दूसरे लोग अजीब-सी बातें करते थे कि बड़ी कम्पनी में बड़ी सैलरी वाली नौकरी छोड़कर छोटी-मोटी काम करके थोड़ी-सी ही पैसा कमा रहा है। इन सभी बेकार की बातों को मैं इग्नोर किया और अपने लक्ष्य पर ध्यान देते गया।

आज की युवा-पीढ़ी सपने बहुत बड़े-बड़े देखते है, जिसमे कोई बुराई नही है, लेकिन वो शुरुआत छोटी करने से हमेशा डरते है, जिसकी वजह से वह अपने सपनों को साकार नही कर पाते है। आप जब मेहनत करते है और यह सोचते है कि यह मुझे करना है तो भगवान भी आपके साथ होते है और वह आपको इसके प्रति और प्रेरित करते है।

Aapki Udan: – अक्सर हमें पता नही चलता है कि आगे हमें क्या करना है तो सर आपको कैसे पता चला कि आपको पब्लिक स्पीकिंग ही करनी है?

Divas Gupta: – जब मैं Infosys company में नौकरी कर रहा था तो वहाँ एक पब्लिक स्पीकिंग क्लब था। जहाँ जो लोग अपनी पब्लिक स्पीकिंग करने का सीखना चाहते थे वह वहाँ पर जाकर उसका अभ्यास करते थे। एक शाम को मुझे ईमेल आया, जिसमें बताया गया था कि एक कॉम्पटिशन हो रही है जिसमे आप भी भाग लीजिये।

जहाँ मुझे कुछ टॉपिक दिया गया था, जिसमें मुझे किसी एक पर अपनी बात को लिखना था तो मैंने मेरे दिल और दिमाग में जो भी आता गया उसे लिखता गया और फिर उस ईमेल को उनके साथ फॉरवर्ड कर दिया। कुछ दिनों बाद मुझे रिप्लाइ आया कि दिवस आपको सेलेक्ट कर लिया गया है। जो मेरे लिए बहुत बड़ी चीज थी।


जिसमें मुझे ये भी बताया गया था कि आपको इसी टॉपिक पर यहाँ आ कर लोगों के बीच मे बोलना है। उस समय मैं नौकरी ही कर रहा था और मुझे लोगों के बीच में बोलने का कोई अनुभव भी नही था जिससे मैं काफी डरने लगा कि यह मुझसे कैसे होगा और इसे मैं कैसे कर पाऊँगा।

मेरे दोस्तों और मेरे पैरेंट्स ने मुझे हिम्मत दी और मैंने वहाँ गया, जहाँ मेरी तरह ही बहुत सारे लोग आए हुये थे और वह भी स्टेज पर आकार लोगों के बीच में बोलते थे। लोगों द्वारा मुझे दी गई जोश और हिम्मत के बल पर मैंने भी अपना विचार प्रस्तुत किया और आकर अपनी कुर्सी पर बैठ गया।

मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं सही से अपने विचार इस टॉपिक पर नहीं रख पाया हूँ जिससे मेरा मन कर रहा था कि कब यहाँ से जाऊँ, लेकिन बीच मे जाने की इजाजत भी नही थी। अंतिम में जब रिज़ल्ट की घोषणा हो रही थी, तो मेरा अंदर में एक बेचैनी आने लगी थी कि अब क्या होगा…
ना तो मेरी 3rd ranking आई और ना ही 2nd ranking आई मुझे आभास हो रहा था कि मेरी यहाँ बेज्जती हो गई और मुझे यहाँ से चलना चाहिए, लेकिन जैसे ही 1st ranking का रिज़ल्ट घोषित किया जिसमें मेरा नाम बोला गया कि दिवस गुप्ता को पहला स्थान मिला है।

मैं तो सोच में पर गया ये आखिर हो कैसे गया। जहाँ पब्लिक के बीच बोले जाने वाली डर मेरी ख़तम हो गई थी। इस बात को मैं अपने पैरेंट्स और दोस्तों के बीच मे बताया जहाँ मुझे बहुत सारी हौसला दिया गया जिससे मुझे लगा कि इसमें मैं कुछ कर सकता हूँ और नौकरी छोड़कर वही से इसकी journey start कर दी।

Aapki Udan: – आपने बहुत सारे स्टूडेंट्स को सिखाया है तो कोई स्टूडेंट आपसे अगर पब्लिक स्पीकिंग सीखना चाहता है तो वह कैसे सीख सकता है ?

Divas Gupta: – मैं ऑनलाइन और ऑफलाइन वेबिनार करता हूँ जिसमें मैं स्टूडेंट्स को invite करता हूँ जो बिल्कुल फ्री में होती है। स्टूडेंट्स मुझसे ऑनलाइन वेबिनार में जुड़ सकते है और मुझसे सीख सकते है उसके बाद अगर वह हमारी कोर्स को लेना चाहते है तो वह उसे ले सकते है।

जिसमें वह public speaking कैसे करना है और English बोलने का कैसे सीखना है इत्यादि चीजों के बारें में जान सकते है। हम हर Sunday को ऑनलाइन webinar करते है जिसमें स्टूडेंट्स को वह videos दी जाती है। मैं ये कहना चाहूँगा कि आप सिर्फ विडियो देखकर नही सीख सकते हो

लेकिन आप सीखने का कोशिश जरूर कर सकते हो। प्रैक्टिस और मेहनत तो आपको ही करनी होगी। जैसे आपको तैरना सीखना है तो आप सिर्फ देखकर नही सीख सकते है आपको खुद से तैरने का कोशिश करना होगा तभी आप सीख सकते है।

ठीक उसी तरह आपको अगर बोलना है तो आपको अपनी फीडबैक पर ध्यान देना होगा और उसे और इम्प्रूव करनी होगी। आप किसी भी क्षेत्र में काम करते है तो आपको अपनी communication skill को जरूर बढ़ानी चाहिए, जिससे आप अपनी बात लोगों के बीच मे स्पष्टीकरण के साथ रख सकते है।

देखिये हर व्यक्ति में सबसे अलग एक हुनर होती है अगर वह हुनर उस व्यक्ति को पता चल गया, वह अपने अंदर इसकी तलाश कर लिया या कोई ऐसा व्यक्ति उसे मिल जाये, जो उसे आगे बढ़ाने में मदद करें तो हमें पक्का यकीन है उस व्यक्ति को सफलता की मार्ग तक जाने से कोई भी नही रोक सकता है।


आज मैं जो कर रहा हूँ वो मेरा पैशन है, वो मुझे करने में मजा आता है। मैंने अपनी हुनर को अपने अन्दर ढूँढा और उस पर निरंतर काम करते गया। जिसकी वजह से आज मैं इस मुकाम पर हूँ। मैं आप सभी को कहना चाहूँगा हमेशा अपनी पैशन को फॉलो करें, तब ही आप सबसे अलग और सबसे बड़ा करनामा कर सकते है।

वैसे लोग मुझसे हमारी Instagram, YouTube, Facebook, Website पर जुड़ सकते है जो कम्युनिकेशन स्किल को सीखना चाहते है और लोगों के बीच में बिना झिझक के बोलना चाहते है। हर हफ्ते हम अपनी सोशल मीडिया प्रोफ़ाइल पर लाइव वेबिनार करते है, जिसे आप लोग जॉइन कर सकते है।

Aapki Udan: – सर क्या communication skill के लिए English आना जरूरी है क्या?

Divas Gupta: – नही ऐसा नही है, कई बार लोग सोचते है कि communication skill के लिए English आना बहुत जरूरी होती है, लेकिन ऐसा नही है। भाषा सिर्फ एक माध्यम है, अगर हम अपनी विचार को दूसरे व्यक्ति तक सही से उनकी भाषा में पहुँचा दिया जाये तो इसे कम्युनिकेशन स्किल कहते है।

इंग्लिश ऐसी जगह पर इस्तेमाल करना चाहिए, जहाँ हर कोई इंग्लिश को जानता हो, लेकिन अगर सब अपनी मातृ-भाषा हिन्दी को जानते है तो उनके रूप में ढल जाना चाहिए। ऐसा भी नही है कि आपको इंग्लिश आनी ही नही चाहिए, professional world में सही से communicate करने के लिए आपको इंग्लिश आनी ही चाहिए।

Aapki Udan: – सर हमें यह बताइए कम्युनिकेशन स्किल को बेहतर कैसे बना सकते है?

Divas Gupta: – इसे बेहतर करने के लिए आपको लोगों के साथ जुड़ना होगा। उनके साथ बातें करनी होगी। अपनी विचार को दूसरों के सामने सहनशीलता से व्यक्त करना होगा। हमारी कई वेबिनार विडियो है जिसे आप देखकर सीख सकते है।

यही बोलूँगा अपनी विचार लोगों तक व्यक्त करने के लिए आपको हमेशा तत्पर रहना चाहिए। जिस दिन आपने यह कर लिया और सही से अपनी भाव प्रस्तुत कर दिया। आप कही पर भी कितने भी व्यक्ति के साथ स्टेज पर बोल सकते है। इसके लिए आपको शुरुआत हमेशा से छोटी ही करनी होगी

Aapki Udan: – सर आपका burning desire क्या है?
Divas Gupta: – मेरा शुरू से ही मिशन रहा है कि मैं लोगों के साथ कनैक्ट रहूँ, उनसे कुछ सीखूँ और उनको भी कुछ सिखाऊँ। मैंने अपनी personal life को professional life में बदलना चाहता था और हमने अपनी passion को फॉलो किया।

सभी को मैं कहते रहता हूँ हमेशा कोशिश करते रहों रिज़ल्ट बाद में देखा जायेगा। क्या आपने कभी ऐसे व्यक्ति के बारें में जाना है जो बिना कोशिश किये ही वह एक बड़े रिज़ल्ट पर पहुँच गया हो, इसलिए हम सभी को कोशिश करते रहना चाहिए, क्योंकि कोशिश करके ही आप किसी चीज को प्राप्त कर सकते है।

शुरू में हम भी स्कूल-कॉलेज में जाकर फ्री सेशन करते थे उसमे से बहुत सारी संस्था ने तो माना ही कर दिया, लेकिन मैंने हार नही मानी और कोशिश करते गया। आज वही स्कूल-कॉलेज मुझसे निवेदन कर कहते है कृपया यहाँ अपनी सेशन करिए। जिस दिन आपके साथ ऐसा होगा, वह आपकी सफलता है।

Aapki Udan: – अक्सर स्टूडेंट्स में आत्म विश्वास की कमी होती है, जिससे वह अपने सपनों को साकार नही कर पाते है, क्योंकि उनके साथ कुछ ऐसा समस्या होती है कि वह उसे करने में झिझक महसूस करते है तो वह अपनी आत्म विश्वास को कैसे बढ़ा सकते है?

Divas Gupta: – अगर आप physically handicapped है और दूसरों से आपको difficulty महसूस होती है कि भगवान ने मुझे ही ऐसा क्यूँ बनाया। ऐसे लोगों के मन में तरह-तरह के सवाल आते रहते है। अगर आपके अन्दर भी ऐसा ख्याल है तो इसे खत्म करिए, क्योंकि लोग शरीर से नही दिमाग से विकलांक होते है।

ऑस्ट्रेलिया के एक व्यक्ति है जिनका नाम Nick Vujicic है। उनका दोनों हाथ और दोनों पैर जन्म से ही नही है। इसके बावजूद वह आज दुनिया के सबसे लोकप्रिय पब्लिक स्पीकर में से एक माने जाते है। मैं यह उदाहरण इसलिए भी दे पा रहा हूँ, क्योंकि मैं विकलांकता की पीड़ा से नही गुजरा हूँ।

जब Nick Vujicic उस प्रस्थिति में सबसे बेहतर कर सकते है उन्होने यह नही सोचने पर अपना महत्वपूर्ण समय बर्बाद किया कि मैं तो handicapped हूँ। मैं कुछ नही कर सकता, उन्होने इन सभी बातों से आगे बढ़कर इस बात पर फोकस किया कि आगे क्या?

उनके अन्दर एक जिद्द आ पड़ी थी कि मुझे सबसे आगे बढ़ना है। कोशिश करते गये और आज ऐसा आया कि दुनियाभर में physically handicapped होने के वाबजुड़ वह सबसे अच्छा वक्ता में से एक कहे जाते है, इसलिए आपको भी अपनी negative thoughts से आगे पढ़कर उसे positive thoughts में बदलना होगा।

Aapki Udan: – अंतिम में सर आप दर्शकों को क्या सुझाव देना चाहेंगे?

Divas Gupta: – जीवन में कुछ करने के लिए आपको अपना लक्ष्य चुनना होगा। सपना बड़ा रखें लेकिन शुरुआत हमेशा छोटी करें। आपको जो करने में मन लगता है वही आपका पैशन है। दूसरों का बिना प्रवाह किये आपने कामों पर ध्यान प्रदर्शित करिए। बस आपकी छोटी-छोटी कोशिश ही आपको एक दिन सफलता की मार्ग तक लेकर के जायेगी।

अंतिम शब्द

इस इंटरव्यू में आपने Interview with Divas Gupta के बारें में जाना। आपको अपने लाइफ में आगे बढ़ने के लिए इनसे प्रेरणा अवश्य मिली होगी। हमेशा याद रखें जीवन में कुछ अच्छा और बड़ा करने के लिए आपको स्वयं आगे आना होगा और अपना journey खुद से तय करना होगा। जैसा आपकी मेहनत होगी वैसा ही आपकी जीवन कहानी भी होगी।
आपको लगता है कि इसे दूसरे के साथ भी Share करना चाहिए तो इसे Social Media पर सबके साथ इसे Share अवश्य करें। शुरू से अंत तक इस interview को Read करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया…

Default image
Aapki Udaan
आपकी उड़ान एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जो लोगों को उनके सपने पूरे करने के लिए प्रेरणा देता है। AapkiUdaan is capable to Inspire you and Ignite the fire within you to be an Achiever 🎉🎊